एयरटेल पर लगा 5,00,00,000 का जुर्माना, जानें क्या है पूरा मामला

airtel international plan roaming recharge pack for 365 days rs 14999

डिजीटल इंडिया की छांव में आज देश में कई ई-कॉमर्स साइट, पेमेंट बैंक, डिजीटल वॉलेट और पेमेंट ऐप बन रही है। अनेकों की इस भीड़ किसी एक को चुनना आम जनता के लिए आसान नहीं होता। किसी तरह भरोसा कर के लोग इन डिजीटल लॉकर्स में पैसा तो जमा कराते हैं लेकिन सिक्योरिटी और निजता का डर बना रहता है। देश के नाम डिजीटल बैंक एयरटेल पेमेंट बैंक को लेकर ऐसा ही मामला सामनें आया है जिसमें आरबीआई ने एयरटेल का दोषी मानते हुए उसपर 5 करोड़ का जुर्माना लगाया है।

दरअसल एयरटेल पेमेंट बैंक को ​परिचालन संबंधी दिशानिर्देशों और केवाईसी प्रक्रिया में धांधले बाजी करने का दोषी पाया गया है और इस संदर्भ में भारतीय रिजर्व बैंक ने एयरटेल पेमेंट बैंक पर 5 करोड़ का जुर्माना लगाया है। रिजर्व बैंक का कहना है कि एयरटेल पेमेंट बैंक ने ग्राहकों की सहमति के बिना ही अपने बैंक में उनका खाता खोल दिया था और स्वयं ही लोगों की निजी जानकारी के जरिये केवाईसी की प्रक्रिया के साथ ही खिलवाड़ किया है।

airtel-payment-bank 91Mobiles

आरबीआई की जांच रिपोर्ट के अनुसार एयरटेल पेमेंट बैंक में 23 लाख से भी ज्यादा ग्राहकों के खातों में तकरीबन 47 करोड़ रुपये जमा हुए ​थे, जब्कि इस बात की जानकारी स्वयं उन खाताधारकों को भी नहीं थी। जब आरबीआई ने निरीक्षण किया और दस्तावेज़ों की छानबीन की तो यह बात सामनें आई की एयरटेल पेमेंट बैंक ने बैकिंग परिचालन से जुड़े नियमों का उल्लघंन किया है।

जानें कब और कहां-कहां हुआ आपके आधार कार्ड का उपयोग

यह छान बीन पिछले साल नंवबर ​व दिसंबर माह के दरम्यान चली और 15 जनवरी को रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया की तरफ से एयरटेल पेमेंट बैंक को कारण बताओ नोटिस जारी किया। एयरटेल पेमेंट बैंक की दलीलों तथा व्यक्तिगत सुनवाई के बाद एयरटेल को दोषी करार दे दिया गया है और सजा के तौर पर एयरटेल पेमेंट बैंक पर 5 करोड़ का जुर्माना लगाया गया है।

बीएसएनएल का ‘लूट लो’ आॅफर, मिल रहा है 60 प्रतिशत तक का फायदा

गौरतलब है कि रिजर्व बैंक की ओर से यह पूर्ण रूप से सुनिश्चित किया गया है कि इस गड़बड़ी और बाद में एयरटेल पेमेंट बैंक पर लगाए गए जुर्माने के बावजूद उसके लेनदेन और बैंक के ग्राहकों के पैसे त​था समझौतों पर कोई भी असर नहीं पड़ेगा।