अब टूटेंगे सबके रिकॉर्ड! Redmi-Jio ने 5G ट्रायल के लिए मिलाया हाथ, जानें पूरी प्लानिंग

भारत में 5G ट्रायल की तैयारी जोरों से चल रही है। लेकिन, हाल ही में सामने आई रिपोर्ट में बताया गया था कि इंडियन यूजर्स को 5G नटवर्क का इस्तेमाल करने के लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है| वहीं, अब इस बीच Xiaomi इंडिया के सब-ब्रांड Redmi India ने 5G ट्रायल के लिए टेलिकॉम कंपनी रिलयांस जियो से हाथ मिलाया है। कंपनी ने बताया कि आने वाले दिनों में Jio की तरफ से 5G ट्रायल रन Redmi Note 11T 5G स्मार्टफोन पर किया जाएगा। इससे Redmi Note 11T 5G की टेस्टिंग की जाएगी और डिवाइस पर रियल-टाइम 5G टेस्टिंग कर कमियों का पता लगाकर खुद को बेहतर बनाने का काम करेगी।

दोनों कंपनियां मिलकर 5G स्टैंडअलोन लैब ट्रायल करेंगी। जहां डिवाइस की हर तरह की कंडीशन पर जांच की जाएगी। जिससे यूजर्स के 5G एक्सपीरिएंस को बेहतर बनाया जा सके। Redmi Note 11T 5G में SA:n1/ n3/ n5/n8/ n28/ n40/ n78 और NSA: n1/n3/n40/n78 सहित 7 बैंड के सपोर्ट है जो उपयोगकर्ताओं को बेहतर प्रदर्शन प्रदान करता है। इसे भी पढ़ें: 6 महीने और आगे बढ़ी 5G Trials की डेडलाईन, जनता को मिला Jio, Airtel और Vodafone Idea से तगड़ा झटका!
jio-logo-and-redmi-ka-logo

बता दें कि पिछले हफ्ते संचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने गुरुवार को कहा कि 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी अगले साल अप्रैल-मई के आसपास हो सकती है। इससे पहले ऐसी खबर सामने आई थीं कि भारत में केंद्र सरकार 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी नवंबर 2021 में होगी। लेकिन, कुछ समय पहले बताया गया था कि 2022 की पहली तिमाही में 5G स्‍पेक्‍ट्रम की नीलामी की जा सकती है|

5G auction delayed in India Jio Airtel Vodafone Idea trials extend by 6 months
pic source : economictimes

5G में देरी

इंडिया में 5जी नेटवर्क चालू होने से पहले इनका ट्रॉयल्स होना जरूरी है जिसमें बैंड व अन्य उपकरणों की क्षमता को परखा जा सके। देश की टेलीकॉम कंपनियां Jio, Airtel और Vodafone Idea विभिन्न टेक ब्रांड्स के साथ मिलकर इन ट्रॉयल्स को अंजाम दे रही हैं जो इंडिया के अलग-अलग ईलाकों में किए जा रहे हैं। लेकिन इस वक्त ये ट्रॉयल्स इतनी मात्रा में नहीं हुए हैं जिससे कि इन्हें हरी झंडी दी जा सके। पहले 26 नवंबर 2021 तक ये ट्रॉयल्स पूरे करके सरकार के समक्ष रिपोर्ट पेश करनी थी, लेकिन दूरसंचार कंपनियां ऐसा करने में नाकाम साबित हुई है। इसे भी पढ़ें: इंडिया में मौजूद सभी 5G Smartphone हुए बेकार! मोबाइल यूजर्स को होगा भारी नुकसान, जानें क्यों

लेटेस्ट वीडियो

गौरतलब है कि अभी ये टेलीकॉम कंपनियां 3500MHz band पर अपने 5जी ट्रॉयल कर रही हैं। वहीं आने वाले दिनों में 700MHz band समेत 3.3GHz और 3.6GHz millimeter wave पर भी 5G Trails किए जाने की उम्मीद है। बहरहाल अभी देखना यह होगा कि क्या ये टेलीकॉम कंपनियां और इस क्षेत्र में सक्रिय अन्य टेक ब्रांड्स आने वाले 6 महीनों में इंडिया में 5जी ट्रॉयल्स को सफलता पूर्वक पूरा कर पाएंगे या नहीं।

LEAVE A REPLY