5G के क्षेत्र में Jio ने बढ़ाया एक और बड़ा कदम

reliance-jio-trails-voinr-over-5g-ran-service

पिछले कुछ माह से भारत में 5G को लेकर काफी चर्चा हो रही है। Reliance Jio, Airtel और Vodafone जैसी कंपनियों ने अपने 5G ट्रायल के बारे में जानकारी दे दी है। वहीं अब भारत की प्रमुख मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनी रिलायंस जियो ने 5G सर्विस को लेकर एक और डेवलपमेंट की जानकारी दी है। कंपनी ने बताया कि उसने 5GNR (VoNR) नेटवर्क पर वॉइस और मैसेजिेंग सर्विस का ट्रायल किया है जिसके लिए कंपनी ने भारत में बने इंडिजिनियस 5G RAN एंड कोर सॉल्यूशन का उपयोग किया है। इसके साथ ही खुद की IMC Converged TAS (CTAS) और HSS/UDM कॉम्बिनेशन सॉल्यूशन का भी उपयोग किया गया है। हालांकि कंपनी ने इसके लिए कोई प्रेस विज्ञप्ति जारी नहीं की है बल्कि जियो के ही एक अधिकारी ने अपने लिंक्डइन प्रोफाइल पर अपडेट किया है।

इस बारे में आयुश भटनागर, एसवीपी, रिलायंस जियो ने अपने प्रोफाइल पर लिखा है कि “2016 में भारत में 4G VoLTE सर्विस को शुरू करने के बाद 5G नेटवर्क पर वॉइस और मैसेजिंग के लिए एक महत्वपूर्ण कमद कही जा सकती है जिसका भारत में पहली बार Reliance Jio द्वारा परीक्षण किया गया है। इस ट्रायल में सेल्फ स्मार्टफोन का उपयोग किया गया है। इस परीक्षण में सबसे महत्वपूर्ण बात यह थी कि इसमें 5G VoNR इंटरवर्किंग का परीक्षण 4G VoLTE के साथ किया गया जहां परिणाम काफी बेहतर देखने को मिले।” इसे भी पढ़ेः ये हैं Jio के सबसे सस्ते प्लान, 50 रुपए से कम में मिल रहा डाटा-कॉलिंग-टॉकटाइम

हाल के दिनों में ​जियो ने इंडिया में ही डेवलप्ड 5G RAN और स्टैंडअलोन (SA) कोर नेटवर्क का उपयोग करके एआई मल्टिमीडिया चैटबॉट का भी परीक्षण किया है जो कि नेचुरल लैंगवेज प्रोसेसिंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसे तकनीक लैस है। इतना ही नहीं कंपनी 5G की लेटेंसि सेंसेटिव हाई बैंडविथ और हाईडेफिनेशन वर्चुअल रियालिटी मीटिंग जैसी सेवाओं की भी तैयारी कर रही है। इसमें सबसे खास बात यह कही जा सकती है कि यन सभी सेवाओं का परिक्षण देश में ही ​विकसित 5G NR रेडियो बैंड और 5G कोर नेटवर्क (5GCN) पर किया जा रहा है। इसे भी पढ़ेः सिर्फ 10,999 रुपये में मिल रहा है THOMSON स्मार्ट टीवी, देखें ऑफर

गौरतलब है कि मुकेश अंबानी ने इस वर्ष आयोजित एजीएम मीटींग में स्पष्ट तौर पर कहा था कि कंपनी 5जी सर्विस के लिए होम ग्रोन तकनीक यानी कि भारत में ही तैयार तकनीक का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करेगी और कंपनी की 5जी ट्रायल में सपष्ट रूप से मेक इन इंडिया की झलक देखी जा सकती है।

LEAVE A REPLY