सैमसंग ने बनाई ऐसी बैटरी जो 12 मिनट में ही चार्ज कर देगी आपका स्मार्टफोन

know-how-to-stop-your-smartphone-from-overheating

जब भी आप कोई नया फोन खरीदते हैं तो ऐसे प्वाइंट्स की लिस्ट बनाते हैं जिन्हें आप अपने फोन में पाना चाहते हैं। इस लिस्ट में लंबा बैटरी बैकअप आपके सबसे जरूरी प्वाइंट्स में से एक होता है। कई बार चार्जर या पावर बैंक साथ लेकर चलना पड़ता है। लेकिन जरा सोचिए अगर ऐसा हो कि फोन चार्ज पर लगाने के कुछ ही मिनटों में फुल चार्ज हो जाए तो! दिग्गज टेक कंपनी सैमसंग ने अब ऐसी ही तकनीक का ईजाद किया है जो सिर्फ 12 मिनट में ही आपका फोन फुल चार्ज कर देगी।

सैमसंग ने इस बात का दावा किया है कि कंपनी ने नई बैटरी टेक्नोलॉजी की खोज की है जिसकी बदौलत कोई भी फोन सिर्फ 12 मिनट में ही फुल चार्ज हो सकेगा। इस नई तकनीक का ईजाद सैमसंग एडवांस इंस्टीट्यूट आॅफ टेक्नोलॉजी (एसएआईटी) ने किया है। एसएआईटी के मुताबिक उन्होंने कुछ मिश्रण की सहायता से ग्रे​फेन बॉल आधारित ऐसी लिथियम बैटरी बनाई है जो अन्य बैटरियों से कई गुणा तेजी से चार्ज होती है और लंबा बैकअप देती है।

smartphone-battery-charging

कंपनी के अनुसार यह नया पदार्थ किसी भी नॉर्मल बैटरी की क्षमता को 45 प्रतिशत तक अधिक बढ़ा देता है और बैटरी के चार्ज होने की ​गति को 5 गुणा अ​धिक तेज करता है। कंपनी का कहना है कि अभी इस तकनीक पर और भी काम किया जा रहा है और यदि शोध सफल होता है ​तो इस तरह की बैटरी​ सिर्फ मोबाईल फोन ही नहीं बल्कि इलेक्ट्रिक कार और बैटरी वाली रिक्शा जैसे वाहनों के लिए बेहद फायदेमंद साबित होगी।

सिर्फ 4,999 रुपये में लॉन्च हुआ शाओमी रेडमी 5ए, 13एमपी कैमरा और 4जी वोएलटीई सपोर्ट

फिलहाल सैमसंग इस तकनीक पर कोरिया में पेटेंट कर रही है। अगर जल्द ही सैमसंग अपने स्मार्टफोन्स को इस नई तकनीक वाली बैटरी से लैस करके बाजार में पेश करती है तो यकिनन यह कई बड़े ब्रांड्स को पीछे छोड़ देगा। वहीं दूसरी ओर ऐसे भविष्य को पाने के लिए सैमसंग को गैलेक्सी नोट7 के इतिहास को भी जरूर ध्यान में रखना चाहिए।

SHARE
Previous articleसिर्फ 4,999 रुपये में लॉन्च हुआ शाओमी रेडमी 5ए, 13एमपी कैमरा और 4जी वोएलटीई सपोर्ट
Next articleवनप्लस 5टी
मेरे लिखने से आपके पढ़ने तक, सब तकनीक है।Kamal Kant का मानना है कि तकनीक नई हो या पुरानी हर रोज़ कुछ न कुछ नया ​दिखाती है, सिखाती है। टेक्नोलॉजी के प्रति इसी सोच ने कमल को तकनीक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने 10 साल के अनुभव के दौरान ये विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों से जुड़ते हुए मीडिया के तीनों मंच - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक्स और डिजीटल मीडिया पर कार्य चुके हैं।