शाओमी की रफ्तार के आगे सैमसंग पड़ा धीमा

Xiaomi Samsung OPPO Vivo Realme indian smartphone market idc report
Photo Credit : Phonearena

मीड बजट स्मार्टफोन हो या हाईएंड फ्लैगशिप डिवाईस। सैमसंग कंपनी ने लंबे समय से भारतीय मोबाईल बाजार में अपना वर्चस्व कायम रखा हुआ है। आंकड़े बताते हैं कि सैमसंग स्मार्टफोन्स ने भारतीय यूजर्स का भरोसा जीता हुआ है और उनकी पहली पंसद बने हुए है। लेकिन सैमसंग की बादशाहत अब खतरे में दिखाई पड़ रही है और सैमसंग की गद्दी को छीनने के ​करीब आ पहॅुंची है चीनी स्मार्टफोन कंपनी शाओमी।

व्हाट्सऐप ने जारी किए नए आंकड़े, जिन्हें जानकर आप हो जाएंगे हैरान

साल 2017 की दूसरी तिमाही के आंकड़े सामनें आए हैं जिनमें शाओमी के भारतीय बाजार पर होता ​कब्जा साफ नज़र आ रहा है। सिंगापुर की फर्म Canalys ने अपनी रिपोर्ट जारी की है जिसमें साल 2016 की दूसरी तिमाही और साल 2017 ​की दूसरी तिमाही में देश में बिके स्मार्टफोन ब्रांड्स की मांग और पूर्ति के आंकड़े पेश किए है। इस आंकड़ों में साफ नज़र आ रहा है ​कि गत वर्ष में शाओमी ने किस कदर भारतीय स्मार्टफोन यूजर्स के बीच अपनी जगह बनाई है ​और भारतीय बाजार को अपने कब्जे में लिया है।

canalys

रिपोर्ट के अनुसार बेशक सैमसंग अभी भी भारतीय स्मार्टफोन बाजार में 25 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी रखता है लेकिन साथ ही यह भी साफ है कि शाओमी और सैमसंग यदि समान गति से बढ़ते रहे तो शाओमी जल्द ही सैमसंग को पीछे छोड़ भारतीय बाजार में सबसे बड़ा ब्रांड बन जाएगा। इस रिपोर्ट में सैमसंग जहां 6.5 मिलियन यूनिट के साथ नंबर एक पर है वहीं शाओमी अपने स्मार्टफोन्स की 4.5 मिलियन यूनिट के साथ दूसरे नंबर पर काबिज़ है।

जियो के जवाब में एयरटेल ने लॉन्च किया 84जीबी डाटा प्लान

इस सूची में तीसरा और चौथा नंबर भी चीनी कंपनियों ने हासिल किया हुआ है। वीवों 3.4 मिलियन के तीसरे तथा ओपो 1.9 मिलियन स्मार्टफोन्स यूनिट के साथ चौथे पायदान पर है। वहीं कोई भी भारतीय स्मार्टफोन कंपनी टॉप 5 में अपनी जगह बनाने में नाकाम रही है। शाओमी, ओपो, वीवो, जियोनी और ​लेनोवो जैसी चा​यनिज़ कंपनियां आज भारतीय स्मार्टफोन बाजार के 50 फीसदी हिस्से पर अपना कब्जा बनाए हुए है।