क्या Samsung Galaxy Watch 4 है बेस्ट एंड्रॉइड स्मार्टवॉच? – एक महीने इस्तेमाल के बाद रिव्यू

एक महीने इस्तेमाल के बाद रिव्यू

बीते महीने सैमसंग ने अपनी नई फ्लैगशिप स्मार्टवॉच गैलेक्सी वॉच 4 को लॉन्च किया था, और लगभग तभी से ये मेरी कलाई पर है और मैं इसे इस्तेमाल कर रहा हूं। भारतीय बाज़ार में Samsung Galaxy Watch 4 (44mm) – ब्लूटूथ वेरीयंट की क़ीमत 26,999 रुपये है। सैमसंग की ये नई वॉच फीचर्स और क़ीमत के मामले में काफ़ी बेहतरीन हैं। ये Apple वॉच के लिए भी एक कड़ा कॉम्पटिशन हो सकती थी, लेकिन Samsung Galaxy Watch4 सीरीज सिर्फ एंड्रॉइड डिवाइसेस सपोर्ट करती हैं, जो इस वॉच के लिए बड़ी कमजोरी हो सकती है। इसके साथ ही कई दमदार फीचर्स भी इस वॉच में शामिल है। तो आइए जानते हैं, कैसा रहा सैमसंग गैलेक्सी वॉच 4 के साथ मेरा एक महीने का सफ़र और क्या ये एंड्रॉइड फ़ोन के लिए सबसे बहतेरीन स्मार्टवॉच है?

डिज़ाइन

सबसे पहले डिज़ाइन की बात करते हैं, तो सैमसंग गैलेक्सी वॉच 4 दो – 40mm और 44mm साइज़ में आती है। इसे Black, Silver, Pink, और Green कलर ऑप्शन में खरीदा जा सकता है। मैं Galaxy Watch 4 (44mm) -Bluetooth वेरीयंट का सिल्वर कलर इस्तेमाल कर रहा हूं। ख़ास बात ये हैं की घड़ी का 44mm साइज़ भी काफ़ी कॉम्पैक्ट है। ये 20mm के स्वेट प्रूफ़ स्ट्रैप के साथ आती है, जो पतली कलाई पर भी बिलकुल आरामदायक और फ़िट रहता है।

Samsung Galaxy Watch 4 को आप मार्केट में मौजूद सभी प्रीमियम स्मार्टवॉच में से सबसे स्लीक वॉच भी कहें तो बिलकुल ग़लत नहीं होगा। इसे एल्यूमीनियम केस के साथ पेश किया गया है, जो इसको पतला और वज़न में हल्का बनाता है। इसमें राउंडेड डाइल दिया गया है। घड़ी के साइड में दो बटन दिए गए हैं, एक होम और दूसरों बैक बटन है।

सैमसंग ने डिज़ाइन को काफ़ी साधारण रखने की कोशिश की है । घड़ी के बेजल ज़रूर आपको थोड़े मोटे लग सकते हैं, लेकिन इसकी भी एक ख़ास वजह है ये बेजल दरसल रोटेटिंग टच डाइल है, जिस पर उँगलियाँ घुमा कर आप वॉच को कंट्रोल कर सकते हैं। Samsung Galaxy Watch 4, डिज़ाइन के मामले में एक ऐक्टिव लाइफ़्स्टायल को सपोर्ट करने वाली घड़ी है। जिसे लम्बे समय तक पहनने पर भी कोई परेशानी नहीं होती है।

डिस्प्ले

1.4 इंच की सुपर अमोलेड डिस्प्ले काफ़ी शार्प और रेस्पॉन्सिव है। डिस्प्ले का रेजलूशन 450X450 पिक्सल है, जो काफ़ी आकर्षक दिखाई देता है। सैमसंग की इस वॉच में ऑटो ब्राइटनेस फ़ीचर इंडोर और आउट्डॉर दोनो ही परिस्तिथि में अच्छे से काम करता है ।

यूजर इंटरफेस

Samsung Galaxy Watch 4 नए Wear OS पर आधारित One UI वर्ज़न 3.0 पर काम करती हैं । अपने एंड्रॉइड फ़ोन से वॉच को लिंक करने के लिए आपको Samsung Galaxy Wearables ऐप और कुछ plug ins की ज़रूरत पड़ती है। ये सैमसंग फ़ोन पर प्री इन्स्टॉल्ड आतें हैं । हालांकि दूसरे ब्राण्ड के स्मार्ट्फ़ोन पर भी इनको आसानी से इंस्टॉल किया जा सकता है। इस ऐप की मदद से आप कई सारे वॉच फ़ेसेज़ में से अपना पसंदीदा वॉच फ़ेस चुन सकते हैं।

with-phone

अगर आप सैमसंग का ही फ़ोन इस्तेमाल करते हैं तो वॉच यूआई पर आपको फ़ोन वाली फ़ील ही आएगी । Wear OS सैमसंग स्मार्ट्फ़ोन से काफ़ी अच्छे से सिंक भी होता है। जो भी ऐप्लिकेशन आप अपने फ़ोन पर इंस्टॉल करते हैं, वो आपकी घड़ी पर भी ख़ुद इंस्टॉल हो जाती है।

घड़ी पर मिलने वाली सभी ऐप में से मैंने सबसे ज़्यादा Samsung Health app को इस्तेमाल किया है। ये आप आपकी calorie burn, food intake, active calories, steps, sleep, active heart rate, stress और भी बहुत सारी चीज़ों का रिकॉर्ड रखती है।

यही नहीं Galaxy Watch4 आपकी REM sleep, light sleep, deep sleep और कितना समय आप रात में सोए नहीं, इन सभी चीज़ों का विश्लेषण कर के sleep score जेनरेट करती है। घड़ी में 90 से ज़्यादा स्पोर्ट्स मोड़ दिए गए हैं। यानी की लगभग सभी ऐक्टिविटी के लिए कुछ ना कुछ ज़रूर है। अगर आप व्यायाम करते हुए ऐक्टिविटी मोड ऑन करना भूल भी गए हैं, तब घड़ी का ऑटो – डिटेक्शन फ़ीचर ख़ुद से ऐक्टिविटी सेन्स कर के मोड को चालू कर देता है।

लेकिन यहां में आपका ध्यान साइक्लिंग मोड पर ज़रूर लाना चाहूंगा, जिसने मुझे निराश भी किया है। साइक्लिंग करते हुए ज़्यादातर ये ऐक्टिविटी मोड Auto-Pause हो जाता है, इसीलिए साइक्लिंग के दौरान Auto-Pause फ़ीचर को बंद करना पड़ता है।

Samsung Galaxy Watch4 की एक और ख़ासियत है इसमें मिलने वाला Body Composition Measurement Tool – घड़ी के दोनो बटन पर अपनी दो उँगलियाँ रख कर skeletal muscle, fat mass, basal metabolic rate, body water और body fat तक नाप सकते हैं।हालाँकि इसकी accuracy के बारे में तो में कुछ नहीं कह सकता, लेकिन ये एक काफ़ी advance और मददगार फ़ीचर है।

वॉच में कंपनी ने बायोएक्टिव सेंसर दिया है जो ऑप्टिकल हार्ट रेट सेंसर, बायोइलेक्ट्रिकल इम्पीडेंस एनालिसिस सेंसर और इलेक्ट्रिकल हार्ट रेट सेंसर को जोड़ती है ताकि हेल्थ ट्रैकिंग फीचर्स को सुनिश्चित किया जा सके। इस लेटेस्ट वॉच की खासियत यह भी है कि इसमें इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम यानी ECG सपोर्ट भी मिलता है।

बाक़ी चीज़ें जैसे म्यूज़िक बदलना, मेसिज या दूसरी नोटिफ़िकेशन देखना, घड़ी से फ़ोन लगाना या उठाना Galaxy Watch4 से बिना किसी दिक़्क़त के किया जा सकता है, लेकिन app permisions को manage करने के लिए आपको अपने फ़ोन का ही इस्तेमाल करना पड़ता है।

स्पेसिफ़िकेशन और परफॉरमेंस

Samsung Galaxy Watch 4 में 1.5GB की RAM और 16GB ROM दी गयी है। हालाँकि आप केवल 7.6GB ROM ही इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन फिर भी एक स्मार्टवॉच के लिहाज़ से ये मेमोरी सही लगती है। घड़ी में 1.18Ghz क्लॉक स्पीड वाला डूअल कोर प्रासेसर लगा है, जो सभी टास्क आसानी से करने में सक्षम है। साथ ही इसमें आपको Samsung Knox Security भी मिलती है। यह भी पढ़ें : Oppo Reno7 Pro स्मार्टफोन ट्रिपल रियर कैमरा, पंचहोल कटआउट और शानदार डिज़ाइन के साथ होगा लॉन्च

कनेक्टिविटी के लिए यहा आपको ब्लूटूथ v5.0, डूअल बैंड WIFI, 4G LTE (ऑप्शनल) और NFC भी मिलता है। इसके अलावा जीपीएस, ए-जीपीएस, ब्लूटूथ, ग्लोनास, Beidou और Galileo सपोर्ट शामिल है। साथ ही Accelerometer, Barometer, Gyro sensor, Geomagnetic sensor और light sensor भी शामिल हैं।

Samsung Galaxy Watch 4 के इस 44mm साइज़ में 361mAh की बैटरी लगी है। कम्पनी 40 घंटो के बैकप का दावा करती है। हालाँकि साधारण फ़ीचर इस्तेमाल करने पर मुझे एक से डेढ़ दिन का ही बैकअप इस घड़ी से मिला है। साथ ही यहाँ पर घड़ी और चार्जर की मैग्नेट भी मुझे थोड़ी ढीली लगी, जिसको थोड़ा बेहतर दिया जाना चाहिए था। भारतीय बाज़ार में Samsung Galaxy Watch 4 (44mm) – Bluetooth वेरीयंट की क़ीमत Rs 26,999 रखी गयी है। यह भी पढ़ें : Redmi Note 11, Redmi Note 11 Pro और Redmi Note 11 Pro+ स्मार्टफ़ोन की स्पेसिफिकेशन्स और क़ीमत हुई लीक, जानें खूबियां

फ़ैसला

Samsung Galaxy Watch 4 को लगभग एक महीना इस्तेमाल करने के बाद, मैं यही कहना चाहूँगा की कम्पनी ने अपनी इस नई फ्लैगशिप वॉच के साथ अच्छा काम किया है। ख़ास तौर पर एंड्रॉइड यूज़र के लिए एक ये अच्छी सौग़ात है। सैमसंग ने प्रीमियम डिज़ाइन, हेल्थ फ़ीचर, हार्डवेयर, स्टाइल सब का बख़ूबी ख़याल रखा है। डिज़ाइन को पर्फ़ेक्ट तो नहीं कहा जा सकता। लेकिन हार्डवेयर और सॉफ़्टवेयर के कॉम्बिनेशन से ये एक पर्फ़ेक्ट स्मार्टवॉच ज़रूर बन जाती है।

LEAVE A REPLY