​बीवी के लिए अमेज़न से मंगाया था आईफोन 7, बॉक्स में निकली रिन साबुन की टिकिया

ऐसे कई किस्से सामनें आते रहे हैं जिनमें किसी शॉपिंग साइट से सामान तो कुछ मंगाया जाता है लेकिन डिलीवर कुछ और ही होता है। ऐसा ही एक और मामला सामने आया है मिलेनियम सिटी गुरुग्राम से। जहां एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के लिए ई-कॉमर्स साइट अमेज़न इंडिया से तकरीबन 45 हजार का आईफोन मंगाया लेकिन फोन की जगह उसमें निकली रिन साबुन की ​टिकिया।

899 रुपये वाले फोन के बाद एम-टेक ने लॉन्च किया एक और सस्ता 4जी स्मार्टफोन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गुरुग्राम की प्रिस्टेन एस्टेट सोसायटी निवासी राजीव जुल्का ने पुलिस में शिकायत दर्ज करते हुए बताया था कि उन्होंने गत 24 नवंबर को अमेज़न से आईफोन 7 आॅर्डर किया था। इस फोन की कीमत 44,900 रुपये थी जो उन्होंने आॅर्डर के दौरान की चुका दी थी। और दो दिन बाद 26 नवंबर को उन्हें फोन की डिलीवरी किए जाने का मैसेज आया।

iphone 91 mobiles

26 नवंबर यानि रविवार के दिन तकरीबन शाम 4 बजे इस फोन घर पर डिलीवर कर दिया गया। राजीव ने बेहद ही खुशी और प्यार से यह फोन अपनी पत्नी को दिया। और जब दोनों ने मिलकर यह फोन खोला तो फोन के बॉक्स में आईफोन चॉर्जर, ईयर फोन, फोन कवर समेत सभी एक्सेसरीज तो मिली लेकिन आईफोन 7 नहीं मिला। इस कपल के होश तब उड़ गए जब फोन के बॉक्स में आईफोन 7 की जगह रिन साबुन की टिकिया निकली।

जियो यूजर्स को अब 15 दिसंबर तक मिलेगा ट्रिपल कैशबैक ऑफर, 399 के रिचार्ज पर 2,599 रुपये का आॅफर

समझदारी दिखाते हुए राजीव ने सोसायटी के गार्ड से डिलीवरी बॉय को पकड़वा लिया और फिर पुलिस में शिकायत की गई। पुलिस ने डिलिवरी बॉय के साथ ही ऐमजॉन के अधिकारियों को से पूछताछ की तो पता चला कि यह बॉक्स बेंगलुरू से मानेसर वेयर हाउस में आया था और वहीं से इसे डिलीवर किया गया है।

फिर से शुरू हो रही है जियोफोन की प्री-बुकिंग, 1 करोड़ फोन डिलीवर करेगी जियो

अमेज़न ने मामले की जानकारी मिलने के बाद राजीव के पैसे वापस कर दिए जिसके बाद राजीव ने भी अपनी ​शिकायत वापस ले ली। लेकिन इतनी बड़ी रकम का सामान न मिल पाना और इस तरह की धोखाधड़ी न सिर्फ इन शॉपिंग साइट्स से ग्राहकों का विश्वास उठाती है बल्कि साथ ही डिजीटल होते की राह में प्रयासरत इंडिया की तरक्की पर भी रोड़ा साबित होती है।

SHARE
Previous articleशाओमी रेडमी 4ए
Next articleनोकिया 8
मेरे लिखने से आपके पढ़ने तक, सब तकनीक है।Kamal Kant का मानना है कि तकनीक नई हो या पुरानी हर रोज़ कुछ न कुछ नया ​दिखाती है, सिखाती है। टेक्नोलॉजी के प्रति इसी सोच ने कमल को तकनीक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। पत्रकारिता के क्षेत्र में अपने 10 साल के अनुभव के दौरान ये विभिन्न प्रतिष्ठित संस्थानों से जुड़ते हुए मीडिया के तीनों मंच - प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक्स और डिजीटल मीडिया पर कार्य चुके हैं।