अमेज़न से सोनाक्षी सिन्हा ने मंगाया था हेडफोन मिला जंक लगा हुआ लोहा

आॅनलाइन शॉपिंग से अब तक सिर्फ आप लोगों को ही धोका मिलता था लेकिन इस बार लोगों ने चूना से​लेब्रिटी को लगा दिया है। बॉलीवुड की अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा ने अमेज़न इंडिया से कुछ आॅडर किया था लेकिन उसके बदले में उन्हें लोहे का टूकड़ा डिलिवर किाय गया है। इस बात की जानकारी उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से दी है।

सोनाक्षी ने इस आॅडर के बारे में ट्विट करते हुए लीखा है कि हाय अमेज़न इंडिया देखो मुझे क्या मिला है। मैनें बोस का हेडफोन आॅर्डर किया था लेकिन मैंने बोस के हेडफोन ऑर्डर किए थे, और क्या निकला है! यह पैकेट सही तरह से पैक था और मुझे अनपैक्ड ही मिला है। परंतु यह सिर्फ बाहर से ही सही है। और इसके लिए आपकी कस्टमर सर्विस किसी भी तरह की मदद करने के लिए तैयार नहीं है। ये सारी चीजें स्थिती और खराब करती हैं।” बंद होने वाली है सैमसंग की चाइना फै​क्ट्री, जानें क्या है कारण

हालांकि वह यहीं नहीं रुकीं। इसके बाद उन्होंने एक और ट्विट करते हुए लिखा है कि कोई है जो ब्रांड न्यू जंक लगा हुआ चमकदार 18,000 रुपये का लोहे का टुकड़ा खरीदना चाहता है। चिंता न करें मैं इसे अमेज़न इंडिया पर नहीं बेच रही हूं। इसलिए आपको वहीं मिलेगा जो आप आॅर्डर करेंगे। एक्सक्लूसिव: डुअल कैमरा, नॉच डिसप्ले और यूएसबी टाइप सी के साथ लॉन्च होगा सैमसंग गैलेक्सी एम20

हालांकि यह पहली घटना नहीं है इससे पहले भी ऐसे कई किस्से हो चुके हैं। हाल में ही हमनें जानकारी दी थी कि ऋषभ गुलाटी ने 14 नवंबर को अमेज़न इंडिया से एक म्यूज़िक सिस्टम आॅर्डर किया था। यह म्यूज़िक सिस्टम बॉस कंपनी का था जिसकी कीमत 33,638 रुपये थी।और इसके बदल में उन्हें नारियल मिला थां

ऋषभ ने अपने साथ हुई इस ठगी को सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक पर पोस्ट किया है और साथ ही उसमें अमेज़न इंडिया को भी टैग किया है। इसके अलावा मोबाइल के बदले साबुन और अन्य चीजें निकलना तो आम हो गया है।

SHARE
Previous articleऑनर ला रहा है सस्ता फोन जिसमें होगा बेज़ल लेस डिसप्ले और 13एमपी कैमरा
Next articleचार कैमरे वाले हुआवई पी30 में होगा कर्व्ड नॉच डिसप्ले
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।