Jio को टक्कर देने आ रही Elon Musk की फास्ट इंटरनेट सर्विस Starlink, जानें इंडिया में कब और कहां होगी लॉन्च

दुनिया के सबसे अमीर शख्सिय की लिस्ट में शामिल स्पेस-एक्स के सीईओ एलन मस्क ने कुछ समय पहले संकेत दिया है कि कंपनी की सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवा जल्द ही भारत में आ सकती है। वहीं, अब खबर है कि satellite-based Internet service Starlink अगले साल दिसंबर से भारत में ब्रॉडबैंड सर्विस को शुरू कर सकती है। वहीं, कंपनी इंटरनेट सर्विस प्रदान करने के लिए देश के दस ग्रामीण लोकसभा क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगी। इस बात की जानकारी किसी ओर ने नहीं बल्कि खुद भारत में स्टारलिंक के कंट्री डायरेक्टर संजय भार्गव ने दी है।

दरअसल, भारत में स्टारलिंक के कंट्री डायरेक्टर संजय भार्गव ने एक लिंक्डइन पोस्ट में कहा कि स्पेसएक्स देश में भेजे गए 80 प्रतिशत टर्मिनलों के लिए दस ग्रामीण लोकसभा क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा। उन्होंने विधायकों, मंत्रियों और नौकरशाहों से मिलने की योजना का भी संकेत दिया। स्पेसएक्स की सैटेलाइट ब्रॉडबैंड यूनिट का लक्ष्य सरकार की अनुमति से दो लाख सक्रिय टर्मिनलों के साथ दिसंबर, 2022 से भारत में ब्रॉडबैंड सेवा शुरू करने का है। इसके अलावा भारत में संजय भार्गव ने रविवार को कहा, ”मैं अक्टूबर में सांसदों, मंत्रियों, सचिवों के साथ 30 मिनट की वर्चुअल बातचीत करने का भी इच्छुक हूं। इसे भी पढ़ें: पैसे डबल करने के नाम पर ‘Elon Musk’ ने टीचर से ठग लिए 9,29,973 रुपए

starlink

भार्गव ने कहा कि स्टारलिंक का लक्ष्य दिसंबर 2022 तक भारत में 200,000 टर्मिनल सक्रिय करना है। उन्होंने यह भी दावा किया कि देश में 5,000 से अधिक टर्मिनल पहले ही प्री-ऑर्डर किए जा चुके हैं। भार्गव ने कहा कि भारत में स्टारलिंक के लिए एक स्पष्ट रोडमैप नवंबर में उपलब्ध होगा। इसे भी पढ़ें: Reliance Jio को टक्कर देने TATA करने जा रही है इंटरनेट की दुनिया में एंट्री, बढ़ेगी अंबानी की टेंशन, जानें पूरा प्लान

internet-speed-india-ranking

हालांकि, पिछले महीने एक ट्विटर यूजर ट्रायोनसेट ने मस्क से पूछा कि भारत में स्टारलिंक सेवा कब शुरू होगी, जिसपर उन्होंने जवाब दिया कि वह रेगुलेटर अप्रूवल का इंतजार कर रहे हैं। इससे अंदाजा लगाया जा रहा है कि अगर इंडिया में स्टारलिंक सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सेवा आती है तो जियो, एयरटेल और वोडाफोन आइडिया को खासी परेशानी उठानी पड़ेगी।

आपको बता दें कि कंपनी ग्राहकों से 99 डॉलर या 7,350 रुपये प्रति ग्राहक का शुल्क ले रही है। कंपनी ने ग्राहकों को 50 मेगाबिट से 150 मेगाबिट प्रति सेकंड की इंटरनेट गति प्रदान करने का वादा किया है।

LEAVE A REPLY