1. Home
  2. Tags
  3. Virus

Tag: Virus

how to inform government about covid19 patient and know about corona red green orange zone

Jio के बाद Airtel ने पेश किया ये शानदार टूल, ऐसे...

इस ऐप से आप कोरोना वायर से रिस्क की जांच कर सकते हैं।
why internet is slow in india

CoronaVirus से स्मार्टफोन इंडस्ट्री को लगा झटका, Samsung, Vivo, Xiaomi और...

कोरोना वायरस से पूर विश्व में हाहाकार मचा हुआ है।
indian government issues serious bugs warning for google chrome Mozilla firefox users know how to protect yourself

10 सबसे खतरनाक वायरस जिनसे घबराया पूरा विश्व

कई बार तो इन वायरस ने पूरे विश्व के तकनीक जगत को हिलाकर रख दिया। ऐसा ही एक रैनसमवेयर हाल में भी आया जिससे विश्व भर के 150 देशों को नुकसान हुआ। इतना ही नहीं हैकर्स ने कंम्यूटर्स हैक करके करोड़ों रुपये की फिरौती भी मांगी।
indian government issues serious bugs warning for google chrome Mozilla firefox users know how to protect yourself

आज भी हो सकता है रैनसमवेयर अटैक, जानें कैसे रखें...

सायबर अटैक में विश्व भर के 150 से ज्यादा देश प्रभावित हुए और 2 लाख से ज्यादा कंप्यूटर्स इसकी चपेट में आ गए। इसका असर भारत में भी देखने को मिला।

सरकार ने​ किया आगाह, जल्द अपने स्मार्टफोन से अनइंस्टॉल करें ये...

मंत्रालय ने एक अलर्ट जारी कर मोबाईल बैंकिंग का प्रयोग करने वाले लोगों को भी चेताया है। सरकार का कहना है कि गेमिंग ऐप टॉप गन, म्यूजिक ऐप एमपीजुंक, वीडियो ऐप बीडीजुंकी और एंटरटेनमेंट ऐप टॉकिंग फ्रॉग को अपने फोन में इंस्टाल न करें तथा इंस्टालड ऐप को तुरंत डिलीट करें। क्योंकि इन ऐप्स के जरिये पाकिस्तानी एजेंसियां में मालवेयर वायरस भेजकर जासूसी कर रही हैं।
how to fast charge your smartphone tips and tricks

जानें इस 5 सेकेंड के वीडियो से कैसे क्रैश हो जाता...

यह वायरल वीडियो सबसे ज़्यादा आई मैसेज और व्हाट्सऐप के जरिये भेजा जा रहा है। इसे एमपी4 और लिंक दोनों तरीकों से लोगों के फोन में पहुंचाया जा रहा है। 3 से 5 सेकेंड का यह वीडियो शुरूवात में तो नॉर्मल ही लगता है इसमें एक शख्श बेड के पास खड़ा दिखता है और स्‍क्रीन पर 'हनी' लिखा आता है।
how-to-keep-your-phone-secure-from-data-leak-mobile-hacking-protection-tips-in-hindi

गूगल प्ले स्टोर पर 400 से ज्यादा ऐप्लिकेशन हैं वायरस से...

‘ड्रेसकोड’ नाम का यह वायरस 400 से ज्यादा एप्लिकेशन में है जो बेहद ही खतरनाक साबित हो सकता है।