इस मामले में फेसबुक को पीछे छोड़ आगे निकला Tik Tok

how to delete your tiktok account and personal data know full steps

पिछले काफी समय से पॉप्युलर विडियो मेकिंग ऐप TikTok खबरों में छाया हुआ है। हाल ही में इस ऐप को बैन कर दिया गया था। लेकिन, फिर से कुछ हफ्ते में यह वापिस एंडरॉयड और आईओएस में डाउनलोड के लिए उपलब्ध करा दिया गया। इस ऐप की पॉप्युलेरिटी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हाल ही में Tik Tok एंडरॉयड और आईओएस ने नंबर वन फ्री ऐप बना था। वहीं, अब सामने आई जानकारी के अनुसार यह ऐप सोशल मीडिया का किंग माने जा रहे फेसबुक को पछाड़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

ऐप इंटेलिजेंस फर्म सेंसर टॉवर के मुताबिक टिकटॉक ने साल की पहली तिमाही में 18 करोड़ 80 लाख यूजर्स को जोड़ा है। इतना ही नहीं, मार्च 2018 से अब तक इस ऐप को इंस्टॉल करने के मामले में 70 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। आपको बता दें कि पिछले कुछ समय में TikTok के लिए इंडिया बहुत बड़ा बाजार बनकर उभरा है। आपको जानकार हैरानी होगी कि देश में TikTok बैन होने से इस चीनी कंपनी को हर एक दिन में $500,000 यूएस डॉलर यानि तकरीबन 3.5 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा रहा था। इसे भी पढ़ें: TikTok की धमाकेदार वापसी, फिर बना नंबर वन ऐप

वहीं साथ इस एप को बनाने वाली कंपनी शंघाई बाइटडांस टेक्नोलॉजी ने यह बयान तक दे दिया था कि इंडिया में TikTok बैन होने से 250 से ज्यादा नौकरियां खत्म होने वाली है। कंपनी ने मुताबिक भारत में TikTok के 300 मिलियन से ज्यादा यूजर हैं। इसे भी पढ़ें: TikTok से बैन हटा: फिर से हुआ फोन में डाउनलोड के लिए उपलब्ध

पिछले दिनों TikTok पर बैन की मांग करने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने मद्रास हाईकोर्ट को ऑर्डर देकर इस एप पर फाइनल वर्डिक्ट देने को कहा था। इस ऑर्डर में सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि यदि मद्रास हाईकोर्ट यह तय करने में फेल होता है कि TikTok पर बैन संवेधानिक रुप से क्यो जायज़ है तो इस एप पर से बैन हटा लिया जाएगा।

बता दें कि इस साल की पहली तिमाही में TikTok दुनिया भर में तीसरा सबसे ज्यादा इंस्टॉल किया जाने वाला ऐप बना था। TikTok ने मार्च तिमाही में पूरी दुनिया में 18.8 करोड़ नए यूजर जोड़े थे, जिसमें भारत की हिस्सेदारी 8.86 करोड़ यूजर्स की थी।

LEAVE A REPLY