जानें नए एंडरॉयड पी ओएस की 10 बड़ी विशेषताएं

top 10 features of android p in hindi

जैसा कि मालूम है हर साल गूगल एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम का अपग्रेड संस्करण लॉन्च करता है। पिछले साल ‘एंडरॉयड ओ’ को पेश किया गया था जिसे बाद में 8.0 ओरियो का नाम दिया गया। वहीं इस साल एंडरॉयड पी की बात हो रही थी और कल गूगल ने इसका डेवलपर्स प्रिव्यू पेश कर​ दिया है जिससे कि लॉन्च होने से पहले आप इसका अहसास कर सकें। एंडरॉयड पी का प्रिव्यू लॉन्च करने के साथ ही कंपनी ने इसके फीचर्स की भी जानकारी दी है। आगे हमने एंडरॉयड पी 10 नए फीचर्स की जानकारी दी है।

1. इंडोर लोकेशन की भी होगी जानकारी
गूगल रास्ता बताने में तो सक्षम है लेकिन जब इंडोर में वह सटीक जानकारी नहीं दे पाता है। परंतु एंडरॉयड पी के साथ गूगल ने इंडोर लोकेशन को और बेहतर करने की कोशिश की है। यह ओएस आईईईई802.11एमसी वाईफाई प्रोटोकॉल सपोर्ट करने में सक्षम है। इसे राउंड ट्रिप टाइम भी कहा जाता है। इसमें ऐप घर के अंदर सही पोजिशन बताने में सक्षम होगा। एंडरॉयड पी आधारित डिवाइस हार्डवयेर सपोर्ट, लोकेशन परमीशन और लोकेशन इनेबल के माध्यम से यह वाईफाई डिवाइस से दूरी बताने तक में सक्षम है।
android-p-phone
2. डिसप्ले कट आउट
पिछले साल आईफोन 10 के साथ नॉच स्क्रीन की शुरुआत की गई थी। यह फीचर अब एंडरॉयड फोन में भी आने वाला है और गूगल का एंडरॉयड पी नॉच स्क्रीन को सपोर्ट करने में सक्षम है। कंपनी ने डेवलपर्स प्रिव्यू में इस बात की जानकारी दी है। हालांकि इसका नाम डिसप्ले कट आउट दिया गया है। इसके बाद से ऐप नॉच स्क्रीन का भी उपयोग कर पाएंगे।

3. बेहतर नोटिफिकेशन
नए ओएस में गूगल ने एंडरॉयड नोटिफिकेशन को और बेहतर बना दिया है। पहले जहां आप सिर्फ नोटिफिकेशन देख सकते थे और उसका रिप्लाई कर सकते थे। वहीं अब नोटिफिकेशन में आए मैसेज को देख कर खुद से ही सजेस्टेड रिप्लाई सामने दिखाई देंगे और आप बस एक क्लिक से जवाब दे सकेंगे। आपको मैसेजिंग ऐप को खोलने की जरूरत नहीं होगी।
android-p-phone-1
4. मल्टी कैमरा एपीआई
डुअल कैमरे आज आम हो गया है और आप बोके इफेक्ट और ब्लर बैकग्रांड के साथ फोटो लेते हैं। परंतु इन इफेक्ट का उपयोग आप व्हाट्सऐप और इंस्टाग्राम जैसे ऐप के साथ नहीं कर सकते हैं लेकिन एंडरॉयड पी के साथ कंपनी ने इस फीचर को इनेबल कर दिया है अब ऐप निर्माता बोके इफेक्ट और ब्लर बैकग्राउंड का उपयोग ऐप में भी कर पाएंगे। गूगल ने पेश किया एंडरॉयड का नया वर्ज़न ‘पी’, जानें कैसे करें अपने फोन में इंस्टॉल

5. एचडीआर वीडियो अपलोडिंग
मीडिया जगत या यूट्यूबर के लिए भी अच्छी खबर है। एंडरॉयड पी के साथ कंपनी ने एचडीआर वीपी9 प्रोफाइल 2 का सपोर्ट दिया है इसकी मदद से अब यूट्यूब और प्ले मूवी सहित दूसरे स्टोर पर एचडीआर वीडियो को अपलोड किया जा सकता है।

6. क्लाउड मैमोरी होगी खाली
एंडरॉयड पी में एचईआईएफ इमेज इनकोडिंग सपोर्ट है, जो खास तौर से इमेज कंप्रेस करने के लिए जाना जाता है। इससे हाई क्वालिटी फोटो सेव होगी और डिसप्ले होगी लेकिन उसका साइज छोटा हो जाएगा।

7. जॉब शिड्यूलर
नए ओएस के साथ कंपनी जॉब शिड्यूलर को पेश किया है। फीचर बेहद काम का है जो डोज़ और ऐप स्टैंडबाई जैसे ऐप्स के साथ कार्य करता है। इसमें आप शिड्यूल टास्क को मैनेज कर सकते हैं। यह फीचर नेटवर्क आधारित काम को मैनेज करता है और नेटवर्क स्थिति के अनुसार उस काम को अंजाम देगा। जैसे एक साथ इंटरनेट पर आप कुछ काम कर रहे हैं तो नेटवर्क धीमे होने की​ स्थिति में यह भारी भरकम काम को रोक देगा और छोटे मोटे कामों को निपटा देगा।

8. फिंगरप्रिंट आॅथेंटिकेशन
एंडरॉयड पी के साथ कंपनी ने सिक्योरिटी पर भी ज्यादा जोर दिया है। अब ऐप के उपयोग के दौरान भी ज्यादा फिंगरप्रिंट आॅथेंटिकेशन का उपयोग ज्यादा किया जाएगा जिससे कि फोन ओपेन रह जाने पर भी आपके ऐप का उपयोग कोई दूसरा न कर पाए।

9. कैमरा और माइक ऐक्सेस होंगे बंद
एंडरॉयड ओएस पर हमेशा से ही सुरक्षा को लेकर सवाल उठते रहे हैं। ऐप्स चुपके से आपसे परमीशन ले लेते हैं और आपके फोन कैमरा और माइक का उपयोग करते हैं। जबकि नए एंडरॉयड आॅपरेटिंग सिस्टम पी में ऐसा नहीं होगा। कैमरा और माइक ऐक्सेस को रिस्ट्रिक्ट कर दिया गया है।

10. बैटरी बैकअप होगा शानदार
एंडरॉयड पी में गूगल ने डोज़, ऐप स्टैंडबाई और बकग्राउंड लिमिट्स ऐप को नए अवतार में पेश किया है। कंपनी का दावा है कि यह पहले ज्यादा सक्षम हो गए हैं और एंडरॉयड पी में आपको बैटरी लाइफ बेहतर मिलेगा।

SHARE
Previous article4 कैमरों वाला हुआवई वाई9 (2018) 15 मार्च को होगा लॉन्च
Next articleखुशखबरी ! आज से आॅफलाईन रिटेल स्टोर्स पर भी मिलेगा शाओमी रेडमी नोट 5
टेक्नोलॉजी शौक नहीं इनका जुनून है और इसी जुनून ने इन्हें टेक जगत में आने के लिए प्रेरित किया। मुकेश कुमार सिंह उन चंद लोगों में से हैं जिन्होंने हिंदी में मोबाइल रिव्यू लिखने की शुरूआत की। अपने 15 सालों के प​त्रकारिता के सफर की शुरुआत इन्होंने हिंदी डेली से की और पिछले 13 सालों से ये मोबाइल तकनीकी क्षेत्र में सक्रिय हैं। अब तक ये मॉय मोबाइल मैगजीन और बीजीआर जैसे वेबसाइट के लिए कार्य कर चुके हैं। वहीं जागरण और नवभारत टाइम्स जैसे अखबारों में इनके लेख नियमित रूप से छपते रहते हैं।