खुशखबरी: चंद घंटे में होगा नंबर पोर्ट, नहीं कर पाएंगे आॅपरेटर्स तंग

villager shut down mobile towers saying 5g trials are causing deaths

मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के माध्यम से मोबाइल यूजर्स को बड़ी ताकत देने की कोशिश की गई है। यदि आप अपने सर्विस प्रदाता से खुश नहीं हैं तो समान नंबर रखकर आप सेवा प्रदाता को बदल सकते हैं। पंरतु अभी आप मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए आवेदन करते हैं तो लंबा समय लग जाता है और इस दौरान पुरान आॅपरेटर आपको काफी परेशान भी करता है। उपभोक्ताओं की इन परेशानियों को देखते हुए अब टेलीकॉम रेग्यूलेटरी आॅफ इंडिया (ट्राई) अब एमएनपी के प्र​क्रिया में बड़ा बदलाव करने की सोच रही है। अब नंबर पोर्ट करने के लिए आपको कई दिन का इंतजार नहीं करना पड़ेगा बल्कि चंद घंटों में ही आपका नंबर पोर्ट हो जाएगा।

इस बारे में टेलीकॉम रेग्यूलेटरी आॅफ इंडिया (ट्राई) के चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा कि ‘ हमारी कोशिश है कि एमएनपी प्रक्रिया को और आसान व तेज़ बनाया जाए। जिससे कि ग्राहक कम समय में ही अपने नंबर को पोर्ट कर सकें। एमएनपी को प्रक्रिया में बदलाव के लिए कंसलटेशन पेपर इस महीने के अंत तक जारी कर दिया जाएगा।” मुकेश अंबानी ने खोला राज, बताया कैसे बना जियो

एमएनपी को लेकर ट्राई ने पहले भी कुछ बदलाव किए थे जो उपभोक्ता के हक में थे। एमएनपी की शुरुआत में शुल्क 19 रुपये की थी जबकि अब इसे घटाकर चार रुपये तक क​र दिया गया है। शुल्क घटाने के बाद संस्था अब समय अवधि को भी कम करने की तैयारी कर रही है जिससे उपभोक्ता को हाथो हाथ इसका फायदा मिल सके। इस खबर को सबसे पहले मिंट ने प्रकाशित किया है। चाइल्ड पोर्नोग्राफी में भारत सबसे आगे, हर 1 सेकेंड में 380 भारतीय देखते हैं ऐसे कंटेंट

गौरतलब है कि एमएनपी को लेकर पहले कई जटिलताएं थीं लेकिन बाद में धीरे—धीरे करके इसे दूर करने की कोशिश जारी है। एमएनपी के तहत मोबाइल फोन धारक अपना मोबाइल नंबर बदले बिना ही सेवा प्रदाता कंपनी बदल सकते हैं। हालांकि एमएनपी के लॉन्च के दौरान यह सुविधा उपलब्ध नहीं थी कि आप समान नंबर को दूसरे टेलीकॉम सर्किल में पोर्ट कर सकें। वहीं अब एक स​र्किल के नंबर को दूसरे सर्किल में पोर्ट कर सकते हैं। वहीं शुल्क कम करना भी एक अच्छा कदम माना जाएगा।

अब रेग्यूलेटरी एमएनपी में लगने वाली समय अवधि को कम करने वाली जिससे कि पुराना आॅपरेटर्स यूजर्स को ज्यादा तंग न कर सकें। विदेशों में भी एमएनपी प्रक्रिया चंद घंटें में ही पूरी हो जाती है।

इसके साथ ही ट्राई ने एक और खुशखबरी दी है। जल्द ही डीटीएच में भी एमएनपी आने वाली है। अर्थात यदि आप ​डिश सेवा प्रदाता से खुश नहीं हैं तो अपनी डीटीएच सर्विस को पोर्ट करा सकतेे हैं।