अब आधार के लिए चेहरा भी होगा स्कैन, जानें पूरी कहानी

भारतीय नागरिक की पहली पहचान बन चुके आधार कार्ड को लेकर सरकार इस बात का पूरा ख्याल रखती है कि आम जनता को अधिक से अधिक सुविधाएं दी जा सके। कुछ समय पहले ही यूआईडीएआई यानि भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण ने ई-आधार कार्ड पर 12 डिजीट वाले नंबर की जगह आसान से क्यूआर कोड की शुरूआत की थी वहीं अब यह सरकारी विभाग आधार कार्ड को और भी एडवांस करने वाला है। जल्द ही आधार कार्ड के साथ फेस रेक्गनाइज़ेशन फीचर भी जोड़ दिया जाएगा।

आधार कार्ड के लिए अभी उंगलियों के निशान और आइरिश स्कैनर यानि आॅंखों की पु​तलियों को मिलाया जाता है। आधार कार्ड को और भी स्मार्ट करते हुए अब आधार कार्ड में फेस रेक्गनाइज़ेशन यानि चेहरा पहचाने वाली तकनीक को भी जोड़ दिया जाएगा। यूआईडीएआई का कहना है कि अगस्त महीने से चेहरे के जरिये सत्यापन करने वाली यह तकनीक आधार कार्ड के साथ जोड़ दी जाएगी। यह सेवा 1 अगस्त से ही शुरू किए जाने की बात भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण के सीईओ अजय भूषण पांडे ने कही है।

how to see services link with aadhar card

आपको बता दें कि यूआईडीएआई ने कुछ समय पहले ऐलान किया था कि आधार के लिए फेस रेक्गनाइज़ेशन की शुरूआत की जाएगी। इस बारे में विभाग का कहना था कि यह सर्विस मजदूर वर्ग और बुजुर्ग लोगों के लिए लाभदायक साबित होगी। वह लोग जिनके हाथ की अंगुलियों के निशान फीके पड़ जाते हैं या मिट जाते हैं और वह बुजुर्ग जिनकी उम्र बढ़ने के साथ साथ आॅंखों की पुतलियां कमजोर पड़ने लगती है, उन्हें फेस रेक्गनाइज़ेशन फीचर से फायदा मिलेगा।

वहीं किसी दुर्घटना का शिकार होने की स्थिति में भी यह तकनीक कामगार साबित होगी। यूआईडीएआई द्वारा आधार के लिए सत्यापन आइरिस स्कैनर और फिंगरप्रिंट के साथ फेस रेक्गनाइज़ेशन की शुरूआत अगस्त की पहली तारीख से कर दी जाएगी।