मोबाइल फोन, टैबलेट और लैपटॉप सभी में मिलेगा अब एक जैसा चार्जर! इंडिया में सारे डिवाईस USB Type-C से होंगे चार्ज

USB Type C universal charger in india details

USB Type-C इंडिया में universal charging port बन सकता है। भारत सरकार (Indian government) यूएसबी टाइप-सी को ‘one nation, one charger’ के तौर पर अपना सकती है। यानी हर मोबाइल फोन, स्मार्टफोन, लैपटॉप, टैबलेट व अन्य डिवाइसेज़ सभी में चार्जिंग के लिए यूएसबी टाइप-सी पोर्ट ही दिया जाएगा। इन सभी गैजेट्स के चार्जर एक समान होंगे और किसी एक के चार्जर से ही अन्यों को भी चार्ज किया जा सकेगा। सेंटर इंटर मिनिस्ट्रियल टास्क फोर्स (Central Inter-Ministerial Task Force) की अगुवाई में जल्द ही यह नया नियम पूरे देश में लागू हो सकता है।

USB Type-C port आने वाले दिनों में भारत में यूनिवर्सल चार्जिंग पोर्ट बन सकता है और जल्द ही सभी स्मार्टफोन, टैबलेट्स, लैपटॉप आदि में यूएसबी टाइप-सी चार्जिंग पोर्ट दिया जा सकता है। कंज्यूमर अफेयर्स सेक्रेटरी रोहित कुमार सिंह की अध्यक्षता में स्मार्टफोन कंपनियों और इंडस्ट्री बॉडी के साथ मंत्रालय की बैठक सफल रही है तथा कंज्यूमर अफेयर्स मिनिस्ट्री के अनुसार स्मार्टफोन कंपनियों और इंडस्ट्री ऑर्गेनाइजेशन्स ने यूनिफॉर्म चार्जिंग पोर्ट (USB Type C) को फेजवाइज रोल आउट करने पर अपनी सहमति दे दी है।

USB Type C universal charger in india details

USB Type-C से चार्ज होंगे सभी डिवाइस

आपको समझा दें कि ‘वन नेशन, वन चार्जर’ पॉलिसी के तरत भारत सरकार की योजना हमारे पूरे देश में टाइप-सी चार्जिंग पोर्ट को प्रमुख चार्जिंग यूनिट बनाने की है। अभी के समय में अलग-अलग कंपनी के मोबाइल फोंस में अलग-अलग तरह से चार्जर लगते हैं। वहीं स्मार्टफोंस, टैबलेट और लैपटॉप के साथ ही स्मार्टवॉच, फिटनेस बैंड तथा अन्य वियरेबल के चार्जर भी अलग पाए जाते हैं। लेकिन नए नियम के तहत इन सभी डिवाइसेज़ में एक जैसा ही चार्जिंग पोर्ट लगाया जाएगा और सभी ब्रांड्स के हरेक प्रोडक्ट को USB Type-C से चार्ज किया जा सकेगा।

USB Type C universal charger in india details

संगठनों की मिली मंजूरी

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कंज्यूमर्स अफेयर्स मिनिस्ट्री के साथ हुई मीटिंग में MAIT, FICCI, CII, के साथ ही IIT कानपुर और IIT BHU जैसे एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन्स तथा Ministry of Environment Forest and Climate Change जैसे केन्द्र सरकार के विभागों ने भी हिस्सा लिया था। मीटिंग के बाद जारी स्टेटमेंट में स्टेकहोल्डर्स ने सहमति जताई है कि वह हर डिवाइस के लिए USB Type-C port का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। ऐसे करने से उपभोक्ताओं को भी सुविधा मिलेगी तथा E-Waste (ई-वेस्ट) कम होने से पर्यावरण को भी फायदा होगा।

LEAVE A REPLY