Android Smartphone में OS और UI का क्या है काम, जानें क्यों है सभी ब्रांड्स के अलग-अलग ओएस

5 points to remember when buying used mobile phone second hand smartphone

स्मार्टफोन मार्केट में सभी ब्रांड खुद को अन्यों से बेहतर बताते हैं। जब कोई यूजर नया स्मार्टफोन लेने का मन बनाता है तो बड़ा सवाल होता है कि एक प्राइस सेग्मेंट में Design, Display, RAM, Storage, Camera, Processor और Battery जैसी सभी स्पेसिफिकेशन्स एक समान होने के बावजूद वो स्मार्टफोंस एक-दूसरे से अलग कैसे होते हैं ? ब्रांड्स के नाम अलग होने के साथ ही जो चीज इन स्मार्टफोंस को एक दूसरे से अलग बनाती है वह है OS यानि ऑपरेटिंग सिस्टम। हर मोबाइल ब्रांड की कोशिश रहती है कि वह अपने स्मार्टफोंस को अन्यों से अलग और खास बनाकर रखें। और यह खास बनता है मोबाइल फोन में मौजूद ऑपरेटिंग सिस्टम से। सभी ब्रांड अपने यूनिक ओएस पर काम करते हैं जैसे OPPO का ColorOS, Samsung का OneUI, OnePlus का OxygenOS, Xiaomi का MiUi, Vivo का FunTouch और Realme का Realme UI. इन सब ऑपरेटिंग सिस्टम की अपनी अलग खासियत है जो स्टॉक एंडरॉयड को और अधिक आर्कषक तथा यूजर फ्रेंडली बनाती है। आईये जानते हैं Android 12 के साथ करने वाले इन OS में क्या है खास

OPPO ColorOS

सबसे एडवांस ऑपरेटिंग सिस्टम की बात करें तो इसमें पहला नाम आता है ओपो द्वारा पेश किए गए कलरओएस 11 का। ColorOS 11 स्मार्टफोन में Android 11 के साथ काम करता है। कलरओएस 11 की मदद से फोन में रैम का यूज़ 45 प्रतिशत तक बढ़ता है। रिस्पांस रेट में 32 प्रतिशत और फ्रेम रेट स्टेबिलिटी में 17 प्रतिशत तक की तेजी आती है। ओएस में मौजूद Personalization फीचर में फोन की थीम, वॉलपेपर, फॉन्ट, आइकन, कलर, ले आउट इत्यादि अपने मूड के हिसाब से सेट किए जा सकते हैं। ओएस में यूजर न सिर्फ आइकन स्टाईल बदल सकते हैं बल्कि साथ ही ‘App Layout’ फीचर में अपने कम्फर्ट के हिसाब से चुन सकते हैं कि उन्हें स्क्रीन पर कितने कॉलम और किनती रो चाहिए। इसी तरह सहुलियत के अनुसार कलर्स को भी बदला जा सकता है। ऑलवेज-ऑन डिसप्ले जैसे फीचर्स फोन एक्सपीरियंस को बेहतर बनाते हैं। कलरओएस 11 में ट्रांसलेशन भी बेहद आसान हो गई है। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में 3 फिंगर टच और ट्रांसलेशन जैसे ऑप्शन शानदार हैं। वहीं ओपो ने इस ओएस में प्राइवेसी को भी पहले से मजबूत और सिक्योर किया है।

know about android operating system user interface coloros miui

Samsung OneUI

सैमसंग ऑपरेटिंग सिस्टम का सबसे लेटेस्ट वर्ज़न है वनयूआई 4। इस नए इम्प्रूवड डार्क मोड के साथ ही प्रो वीडियो मोड, ऑडियो बुकमार्क्स और वाईफाई पासवर्ड शेयरिंग जैसे फीचर शामिल किए गए हैं। सैमसंग वनयूआई में मिलने वाले खास फीचर की बात करें तो इसमें Quick Switch और Content Suggestions प्रमुख है। क्विक स्विच फीचर में नॉर्मल मोड और प्राइवेट मोड मौजूद है जिसमें पावर बटर को दो बार दबाकर इन दोनों मोड्स को बदला जा सकता है और यूज़र्स गैलेरी, व्हाट्सऐप व अन्य ऐप्स के लिए नॉर्मल मोड से प्राइवेट मोड में स्विच कर सकते हैं। वहीं कंटेंट सजेशन्स में स्मार्टफोन यूजर को प्राइवेट कंटेट को ‘सिक्योर फोल्डर’ में ट्रांसफर करने के सुझाव दिया जाता है।

know about android operating system user interface coloros miui

Xiaomi MIUI

शओमी का लेटेस्ट ओएस है मीयूआई 12.5। कुछ खास फीचर्स की बात करें तो डार्क मोड 2.0 को और भी अधिक एडवांस करके पेश किया है जो बैटरी की खपत को भी बचाता है। इसी तरह आलवेज़-ऑन डिसप्ले, गेस्चर एंड नेविगेशन, नोटिफिकेशन्स जैसे फीचर्स शानदार यूजर्स एक्सपीरियंस देते हैं। मीयूआई 12 में मौजूद कैमरा ऐप के साथ लेआउट सपोर्ट भी दिया गया है जिसके साथ कलर कस्टमाइज़ेशन भी मौजूद है। स्मार्टफोंस को अधिक सिक्योर करने के लिए मीयूआई 12 में Mobile AI Compute Engine यानि MACE फ्रैमवर्क का यूज़ किया है। इसके साथ ही ऐप बिहेवियर जैसे फीचर्स यूजर्स को अपनी प्राइवेसी अधिक मजबूत करने और खुद से हैंडल करने का मौका देते हैं।

know about android operating system user interface coloros miui

Oneplus OxygenOS

वनप्लस द्वारा जारी सबसे नए ऑपरेटिंग सिस्टम का नाम है ऑक्सीजन ओएस 11। यह ओएस भी अन्य लेटेस्ट वर्ज़न की तरह एंडरॉयड 11 के साथ काम करता है। आलवेज़-ऑन डिसप्ले को वनप्लस के ऑक्सीजन ओएस में भी बेहद शानदार तरीके से जोड़ा गया है जिसमें यूजर्स आपनी सहूलियत के हिसाब से अपने फोन को डिजाईन कर सकते हैं। इसके साथ ही वन-हैंडेड ऑप्टिमाइज़ेशन, फोकस ट्रैकिंग और गेस्चर शेल्फ जैसे फीचर मोबाइल यूज को आसान बनाते हैं। वहीं ऑक्सीजन ओएस 11 में प्राइवेसी और सिक्योरिटी के मामले में भी बेहतरीन सर्विस परोसी गई है।

know about android operating system user interface coloros miui

Realme UI

रियलमी फोन पहले ओपो कलर ओएस पर ही काम करते थे, लेकिन बाद में रियलमी यूजर्स को अलग एक्सपीरियंस प्रदान करने के लिए कंपनी ने रियलमी यूआई को पेश किया। Realme UI 3.0 इसका लेटेस्ट वर्ज़न है। आलवेज़-ऑन डिसप्ले, सिस्टम थीम और स्क्रीन लाइट इफेक्ट फोन के यूजर इंटरफेस को अटरेक्टिव बनाते हैं। हाई-ब्राइटनेस कलर और हाई-सेच्यूरेशन व्यू के साथ ही कस्टमाइज़ेशन इसे शानदार बनाता है। रियलमी यूआई में Quantum Animation Engine को जोड़ा गया है जो डिसप्ले को सॉफ्ट और ऐनिमेशन्स को स्मूथ बनाता है। इसी तरह फोन में फोकस मोड, 3-फिंगर टच, पसर्नल इंर्फोमेशन प्रोटेक्शन व पावर सेविंग जैसे फीचर भी शामिल है।

LEAVE A REPLY