व्हाट्सऐप का यह वायरस है बेहद खतरनाक, सेना भी हुई सतर्क

whatsapp remove from apple app store for iphone user after 15 may new privacy policy iphone user
Image courtesy : ibtimes.co.in

अभी उस बात को एक महीना भी नहीं गुज़रा है जब भारत सरकार की ओर से चार एंडरॉयड ऐप्स की सूची जारी कर उन्हें सुरक्षा के लिहाज से बेहद खतरनाक बताया था और उन्हें फोन से डिलीट करने का आदेश दिया था। सरकार का कहना था कि उन ऐप्स के जरिये पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियां देश में जासूसी कर रही हैं। वहीं अब एक बार फिर भार​तीय केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों की ओर से रक्षा विभाग तथा डिफेंस से जुड़े अधिकारियों को व्हाट्सऐप के जरिये फैल रहे वायरस के खतरे से चेताया गया है।

जानें कैसे रखें अपने एंडरॉयड फोन को सुरक्षित

पीटीआई के सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों ने डिफेंस और सिक्योरिटी विभाग पर दो वायरस का खतरा बताया है। सुरक्षा एजेंसियों ने इस बाबत एक एडवायजरी जारी करते हुए ​विभागों को सचेत ​किया है कि व्हाट्सऐप पर दो वायरस में गलत तरीके से एनडीए तथा एनआईए जैसे संगठनों के नाम से फेक फाईल बनाई गई है तो भारतीय जवानों की जानकारी चुरा सकती है।

hacker-3 91Mobiles

एजेंसियों के अनुसार दो वायरस फाइल ‘NDA-ranked-8th-toughest-College-in-the-world-to-get-into.xls’ और ‘NIA-selection-order-.xls’ नाम से बना हुई हैं जो व्हाट्सऐप पर लगातार फैल रही हैं। ये इनफेक्टिड फाईल्स भारतीय जवानों के फोन में छिपी निजी जानकारियां चुराने की ताक में हैं।

सैगसंग गैलेक्सी एस7 एक्टिव की जानकारी हुई लीक, जानें कैसा होगा यह फोन

एडवायजरी में कहा गया है कि इन वायरस फाईल्स को इस तरह से प्रोग्राम किया गया है कि यह गैरकानूनी तरीके से यूजर्स की बैंकिंग डिटेल्स समेत की निजी जानकारियां चुरा रही हैं। तथा ये फाईल ‘एमएस एक्सेल’, ‘एमएस वर्ड’ या ‘पीडीएफ’ फॉरमेट में यूजर्स के मोबाईल में प्रवेश कर सकती हैं।

लेईको ले2 का 64जीबी स्टोरेज वाला वेरियंट हुआ लॉन्च

गौरतलब है कि इससे पहले भी पाकिस्तान पर ऐप के जरिय जासूसी के आरोप लगे हैं। तथा चीनी मोबाईल कंपनियों द्वारा स्मार्टफोन यूजर्स के डाटा पर नज़र रखने जैसी खबरों ने भी काफी तुल पकड़ा था।