सैमसंग को पीछे छोड़ शाओमी बना नंबर एक स्मार्टफोन निर्माता

xiaomi-become-no-one-smartphone-vendor-in-india-samsung-goes-two
Photo: brecorder.com

वैसे तो जब से शाओमी ने भारत में अपने प्रोडक्ट लॉन्च किए हैं तब से चर्चा में रहता है लेकिन वर्ष 2018 कंपनी के लिए बेहद ही खास रहा। अभी साल की शुरुआत ही हुई है और कंपनी को अच्छी खबरें मिलनी शुरू हो गई हैं। कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि सैमसंग को पीछे छोड़ शाओमी ​भारत की नंबर एक स्मार्टफोन निर्माता कंपनी बन गई है। हालांकि उस वक्त काफी बातें उठी थीं और हर किसी ने इस रिपोर्ट पर अपने—अपने विचार रखे थे। वहीं अब विश्व की प्रमुख मोबाइल डाटा रिचर्स कंपनी आईडीसी ने अपने रिपोर्ट पेश किए हैं जिसमें स्पष्ट तौर पर शाओमी को नंबर एक ब्रांड घोषित कर दिया गया है। जियो ने ​दूसरी टेलीकॉम कंपनियों के साथ किया प्यार भरा मजाक, वेलेंटाईन की दी बधाई

यह डाटा वर्ष 2017 के तिसरी तिमाही अर्थात अक्टूबर से लेकर दिसंबर के बीच की है। इंटरनेशनल डेटा कॉपरेशन (आईडीसी) की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 26.8 फीसदी मार्केट शेयर पाकर शाओमी भारत की नंबर एक मोबाइल फोन निर्माता कंपनी बन गई है। वहीं 24.2 फीसदी मार्केट शेयर के साथ सैमसंग दूसरे नंबर पर खिसक गया है। 6.5 फीसदी मार्केट शेयर के साथ वीवो तिसरे नंबर पर है जबकि लेनोवो और मोटोरोला मिलकर 4.9 फीसदी मार्केट पर कब्जा जामने में सफल रहे और उन्होंने चौथा स्थान हासिल किया। हालांकि यह तिसरी तिमाही की रिपोर्ट है। पूरे साल को देखा जाए तो सैमसंग अब भी नंबर एक है। नोकिया 9, नोकिया 6 (2018) और नोकिया 1 अप्रैल में आएंगे भारत

आईडीसी द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार यदि साल दर साल शाओमी के मोबाइल शिपिंग की बात की जाए तो कंपनी की शिपिंग में तीन गुना का इजाफा हुआ है। वहीं कम समय में ही कंपनी ने आॅफलाइन बाजार में भी अपनी जबर्दस्त पकड़ बना ली है। कंपनी द्वारा पिछले साल जितने भी फोन लॉन्च किए सभी काफी पॉप्यूलर हुए। वहीं बेहतरीन फीचर और शानदार प्राइस के बदौलत शाओमी रेडमी नोट 4 ​सबसे ज्यादा बिकने वाला स्मार्टफोन बन गया। कंपनी ने वर्ष 2017 में 96 लाख से ज्यादा यूनिट सिर्फ रेडमी नोट 4 के बेचे। इसके अलावा मी ए1, रेडमी 4, रेडमी 4ए और रेडमी 5ए को लेकर भी काफी मांग देखी गई।