Xiaomi फिर बना देश का सबसे बड़ा ब्रांड, जानें Samsung, Realme और Vivo का हाल

Xiaomi Mi Community Video Call chinese app ban india with tiktok shareit

चीनी स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी शाओमी ने एक बार फिर सैमसंग और ऐप्पल जैसे बड़े ब्रांड को पीछे छोड़ दिया है। मार्केट एनालिस्ट कंपपनी Canalys की लेटेस्ट रिपोर्ट में यह जानकारी सामने आई है। रिपोर्ट के मुताबिक, Xiaomi ने भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 30.6 प्रतिशत मार्केट शेयर के साथ अपनी पोजिशन टॉप पर रखी हुई है।

कंपनी ने साल 2020 की पहली तिमाही में कुल 10.3 मिलियन यूनिट शिप किए हैं। इससे पहले रिपोर्ट के अनुसार, पिछली तिमाही में भारत में शिपमेंट के मामले में शीर्ष पांच स्मार्टफोन निर्माता Xiaomi, Vivo, Samsung, Realme, और Oppo थे।

canalys-shows-q1-2020-smartphone-shipment-data
वहीं, अगर बात करें 2020 तिमाही की तो इसमें वीवो ने दूसरे नंबर पर अपनी जगह बनाई है। दरअसल, कंपनी ने पिछले साल की तुलना में 48.9 प्रतिशत की सालाना बढ़त बनाई जो कि काफी अच्छी कही जा रही है।

वहीं, मार्केट शेयर में वीवो 19.9 प्रतिशत रहा। इसके अलावा 2020 की पहली तिमाही में कंपनी ने भारत में 6.7 मिलियन यूनिट बाजार में उपलब्ध कराए हैं। वहीं, वीवो के अलावा तीसरे नंबर पर सैमसंग ने अपनी जगह बनाई है। सैमसंग ने इंडिया में Q1 2020 में 6.3 मिलियन स्मार्टफ़ोन भेजे हैं। Canalys ने कहा, पिछले साल की इसी तिमाही में 7.3 मिलियन स्मार्टफ़ोन कंपनी ने भेजे थे।

सैमसंग के ठीक बाद, Realme और Oppo ने क्रमशः चौथा और पांचवां स्थान हासिल किया। रिपोर्ट के अनुसार, Realme की साल-दर-साल की शिपमेंट में लगभग 200 प्रतिशत (3.9 मिलियन स्मार्टफ़ोन) की वृद्धि हुई, जबकि ओप्पो की साल-दर-साल की शिपमेंट 22.4 प्रतिशत (3.5 मिलियन स्मार्टफ़ोन) तक बढ़ी है।
top-samsung-phone-to-launch-in-india-soon
गौरतलब है कि भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 2020 की पहली तिमाही में 12 प्रतिशत की वृद्धी देखने को मिला है। Canalys की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस तिमाही में कुल 33.5 मिलियन यूनिट की सेल हुई है। वहीं, मार्च के आखिर से अब तक कोरोना वायरस के कारण लॉकडाउन लगा हुआ है।

बता दें कि भारत में 3 मई तक लॉकडाउन के चलते सप्लाई और मांग दोनों में भारी कमी देखने को मिलेगी। इसका सीधा नुकसान कंपनी को हो रहा है। हालांकि, नए फोन्स खरीदने के लिए ग्राहक भी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। 3 मई के बाद स्मार्टफोन इंडस्ट्री का भविष्य आगे के लिए तय होगा।

LEAVE A REPLY